कर्नाटक में सियासी संकट: ”ख’तरे में आई येदियुरप्पा की सीएम कुर्सी”, भाजपा ने…

September 23, 2020 by No Comments

कर्नाटक में सत्तारूढ़ येदियुरप्पा सरकार पर एक बार फिर सियासी सं’कट मंडराने की खबर सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि कोरोनावायरस संकट के बीच देश के अलग-अलग राज्यों में चल रही राजनीतिक हलचल के बीच कर्नाटक में सियासी उठापटक तेज हो गई है। राज्य में कुछ दिनों से यह चर्चा चल रही है कि बीएस येदियुरप्पा की मुख्यमंत्री पद की कुर्सी से विदाई हो सकती है।

भारतीय जनता पार्टी ने इन सभी बातों का खंडन कर दिया है। लेकिन इस मामले में बीती रात बेंगलुरु में करीब 5 मंत्रियों के बीच पूरे मामले पर मंथन किया गया है। कर्नाटक सरकार में मंत्री सुधाकर के घर पर हुई इस बैठक में पांच अन्य मंत्री भी शामिल हुए, जिसमें येदियुरप्पा की विदाई जैसी स्थिति बनती है तो उसके बाद की रणनीति पर चर्चा की गई।

आपको बता दें कि इस बैठक में सुधाकर के अलावा बीएस पाटिल, आनंद सिंह, सोमशेखर, नागेश (निर्दलीय विधायक) भी शामिल रहे। दरअसल कर्णाटक में सिद्धारमैया की सरकार गिरने के बाद ये सभी विधायक बीएस. येदियुरप्पा के भरोसे पर ही भाजपा के साथ आए थे, जिन्हें बाद में मंत्री पद दिया गया था।

माना जा रहा है कि अगर मुख्यमंत्री येदियुरप्पा की इस पद से विदाई होगी तो इनके भविष्य पर भी सं’कट के बादल मं’डरा सकते हैं। ऐसे में बैठक में आगे की रणनीति पर मंथन किया गया है। दरअसल, कर्नाटक में कई स्थानीय मीडिया ने बीएस. येदियुरप्पा की विदाई की बात की थी। जिसपर भाजपा की ओर से बयान जारी किया गया था।

बीजेपी प्रवक्ता गणेश कार्णिक की ओर से कहा गया था कि बीजेपी की ओर से उन अ’टक’लों को खारिज किया जाता है, जहां राज्य के नेतृत्व में बदलाव की बात कही जा रही है। दरअसल बीते कुछ वक्त से यह चर्चा चल रही थी कि मुख्यमंत्री येदियुरप्पा को दिसंबर तक सीएम पद से हटाया जा सकता है। इसके पीछे उनकी बढ़ती उम्र के साथ कई विधायकों और मंत्रियों की नाराजगी को भी कारण माना जा रहा है। साथ ही भाजपा ने अभी से ही नेतृत्व बदल कर आने वाले विधानसभा चुनाव पर रणनीति बनानी शुरू कर दी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *