अब यूपी में भाजपा की सहयोगी पार्टी ने छोड़ा साथ, सीएम योगी पर वादाखिलाफी के..

February 2, 2021 by No Comments

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिसके लिए अभी से ही तैयारियां शुरू हो चुकी है। राज्य की सबसे प्रमुख पार्टियां भारतीय जनता पार्टी ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन और आम आदमी पार्टी के साथ-साथ भीम आर्मी ने भी इस बार चुनावी दं’गल में उतरने का ऐलान कर दिया है।

आपको बता दें कि राज्य में पंचायत चुनाव को लेकर भी पूरी तैयारियां हो चुकी हैं। भाजपा की सहयोगी निषाद पार्टी ने इसी बीच बड़ा ऐलान कर दिया है। दरअसल निषाद पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी पर वा’दाखि’लाफी का आ’रो’प लगाया है और इसके साथ ही हैरान किया है कि अब वह अकेले ही चु’नाव ल’ड़ेंगे।

 

 

बताया जा रहा है कि अकेले चुनाव लड़ने की शुरुआत त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव भाजपा से अलग होकर ल’ड़ने से हो जाएगी। निषाद पार्टी के प्रमुख संजय निषाद ने निषाद बि’रादरी के आ’रक्षण को लेकर भाजपा पर कई आ’रोप लगाए हैं। उन्होंने कहा, भाजपा ने उनसे जो वादे किये उन्हें पूरा नहीं किया।

साल 2019 में उनकी पार्टी ने निषादों के आ’रक्षण के मामले को लेकर ही भाजपा से जुड़े थे। इस मुद्दे पर उन्होंने ने कई बार भाजपा के बड़े नेताओं से बात की। प्रदेश सरकार से भी मांग की गई, लेकिन आरक्षण की मांग पर कुछ भी नहीं हुआ।इस मामले में संजय निषाद ने यह कहा है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्हें यह भरोसा दिया था कि निषादों की आ’रक्षण का मामला खत्म किया जाएगा। लेकिन अब सरकार इस मामले पर कोई ध्यान भी नहीं दे रही है जब भी हम सरकार से इस बारे में बातचीत करते हैं। तो इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी जाती। मगर भारतीय जनता पार्टी अपना वादा पूरा नहीं कर रही है।

उन्होंने कहा है कि निषाद पार्टी भाजपा की सहयोगी पार्टियों में से एक है। लेकिन अब वह खुद को इतना उपेक्षित महसूस कर रहे हैं कि अगले विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में अकेले अपने दम पर ही चुनाव ल’ड़ेंगे। संजय निषाद ने यह भी ऐलान किया है कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश के आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की हर सीट पर उम्मीदवार उतारेगी। उन्होंने भाजपा से मांग की कि वह किसानों के मुद्दों को बातचीत के जरिए जल्द हल करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *