शुरू होने वाली है अमरनाथ यात्रा, 1 अप्रैल से है रजिस्ट्रेशन, जानें पंजीकरण के नियम

March 24, 2021 by No Comments

अमरनाथ यात्रा जल्दी ही शुरू होने वाली है और इस यात्रा के पंजीकरण की प्रक्रिया की तैयारी की जा रही है। कोरोना के कारण इस यात्रा में कुछ बदलाव किए गए हैं और इस बार 13 वर्ष से कम और 75 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को इस यात्रा में हिस्सा नहीं देने दिया जाएगा।

साथ ही सामान्य पंजीकरण के अलावा यात्री पांच से अधिक समूह में पारंपरिक बालटाल और पहलगाम ट्रैक से भी पंजीकरण करवा सकेंगे। समूह पंजीकरण 1 अप्रैल से शुरू होकर 31 मई तक होगा। इसके लिए पंजीकरण शुल्क प्रति यात्री 200 रुपये रखा गया है। पोस्टल से ब्योरा भेजने पर अलग से दरें निर्धारित की गई हैं।

बालटाल और पहलगाम ट्रैक से पंजीकरण की सुविधा देने से यहां पर बनें गांव मोहल्लों से आने वाले यात्रियों को सहूलियत होगी। इसमें अधिकतर 50 यात्री एक साथ समूह पंजीकरण करवा सकेंगे। समूह पंजीकरण के लिए समूह का लीडर ही अन्य साथियों का ब्योरा देगा। यात्रा में 13 वर्ष से कम और 75 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के यात्री का पंजीकरण नहीं होगा। इसके तहत पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर पंजीकरण किया जाएगा।

समूह पंजीकरण के लिए अनिवार्य स्वास्थ्य प्रमाणपत्र जरूरी होगा। जो कि श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त डॉक्टरों और चिकित्सा केंद्रों की ओर से जारी किया होना चाहिए। ये पत्र 15 मार्च के बाद से जारी होगा।

पोस्टल शुल्क में 1 से 5 सदस्यों के लिए 50 रुपये, 6 से 10 के लिए 100 रुपये, 11 से 15 के लिए 150 रुपये, 16 से 20 के लिए 200 रुपये, 21 से 25 के लिए 250 और 26 से 30 के लिए 300 रुपये रखा गया है।

इसके अलावा अतिरिक्त सदस्यों के लिए अलग से शुल्क होगा। इसके अलावा एक्स इंडिया तीर्थ यात्रियों के लिए भी पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। इसमें प्रत्येक यात्री के लिए 1500 रुपये शुल्क रखा गया है।

1 तारीख से शुरू होंगे पंजीकरण
श्री अमरनाथ यात्रा 2021 के लिए सामान्य पंजीकरण एक अप्रैल से शुरू हो रहे। जिनकी तैयारी तेजी से की जा रही है। श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने देशभर में जम्मू-कश्मीर बैंक, येस बैंक और पंजाब नेशनल बैंक की 446 शाखाओं की सूची जारी की है। जहां पर लोगों का पंजीकरण करवाया जा सकेगा।

पंजीकरण के लिए कंपल्सरी हेल्थ सर्टिफिकेट लेना अनिवार्य है। जो कि नामित डॉक्टर और चिकित्सा केंद्र से ही प्रमाणपत्र जारी होंगे। स्वास्थ्य निदेशक जम्मू डॉ. रेणु शर्मा ने बताया कि सभी सीएमओ से डाक्टरों के नाम मांगे गए हैं, जिन्हें जल्द सूचीबद्ध किया जाएगा।

यात्रियों के कोविड टेस्ट को लेकर अभी कोई दिशा निर्देश नहीं मिले हैं। पंजीकरण होने के बाद ये यात्रा इस साल 28 जून से शुरू होगी। जो कि 22 अगस्त तक चलेगी। 22 अगस्त को रक्षाबंधन के साथ ही ये यात्रा खत्म हो जाएगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *