बॉलीवुड अभिनेत्री ऐश्वर्या राय आए दिन सुर्खियों में बनी रहती हैं.वह अब फिल्मों से दूर रहती हैं,लेकिन इसके बावजूद वह सुर्ख़ियों में रहती हैं. आप को बता दें कि ऐश्वर्या राय बच्चन फेमली की बहु हैं.इनकी शादी अभिषेक बच्चन से हुई है. यह शादी 2007 में हुई थी और इन की शादी बहुत अच्छी चल रही है.इन दोनों की एक बेटी भी है.

जिसका नाम आराध्य बच्चन है.आज हम आप को इन दोनों का एक किस्सा बताने जा रहे हैं,जब अभिषेक बच्चन को दो दिन तक ऐश्वर्या राय ने कमरे में नहीं आने दिया था.आप को बता दें कि हर पति पत्नी में लड़ाई होती है।

लेकिन यह लड़ाई थोड़ी देर के लिए होती है.वहीँ जब गुस्सा ठंडा होता है तो फिर दोनों नार्मल हो जाते हैं.ऐसा इन दोनों के बीच में भी होता रहता है.कई बार इस बारे में यह दोनों बात भी कर चुके हैं।

लेकिन एक बार ऐसा हुआ था कि दो दिन तक ऐश्वर्या राय ने अभिषेक बच्चन को कमरे में नहीं आने दिया था.आज हम आप को उसी के बारे में बताने जा रहे हैं.इस बारे में खुद अभिषेक बच्चन ने एक इंटरव्यू में बताया था।

उन्होंने बताया था कि साल 2014 का।उस वक्त अभिषेक बच्चन की टीम ने प्रो-कबड्डी लीग में जीत हासिल की थी. इस बीच वह अपनी टीम के साथ ट्रेनिंग के सिलसिले में चेन्नई की सत्यभामा यूनिवर्सिटी गए थे।

यहां पर उनकी मुलाकात यूनिवर्सिटी के फाउंडर कर्नल जेपिआर से हुई थी।जब अभिषेक उनके ऑफिस गए तो उन्होंने देखा कि जेपिआर ने अपनी सारी ट्रॉफियां जमीन पर एक कोने में रखी हुई हैं।

अभिषेक ने उनसे इसका कारण पूछा तो उन्होंने कहा कि मैंने अपनी ट्रॉफी को जमीन पर इसलिए रखा है क्योंकि मैं अपनी जीत को कभी भी अपने सिर पर नहीं चढ़ने देना चाहता।

अभिषेक बच्चन पर उनकी इस बात का काफी प्रभाव पड़ा. ऐसे में उन्होंने घर जाकर ऐश्वर्या और अपनी सभी ट्रॉफियों को जमीन पर सजा दिया था।

उनका पूरा कमरा ट्रॉफियों से भर गया था. इसके बाद जब ऐश्वर्या कमरे में आईं तो ये सब देखकर गुस्सा से लाल हो गईं.अभिषेक बच्चन ने बताया था कि मैंने ऐश्वर्या को ट्राफी ज़मीन पर रखने की वजह भी बताई।

लेकिन वह बहुत गुस्से में थीं और उन्होंने मुझे कमरे से बाहर निकाल दिया.अभिषेक ने बताया कि ऐश्वर्या इतना ज्यादा गुस्से में थीं कि दो दिन तक मुझे कमरे में नहीं आने दिया.

और मुझे दो दिन तक कमरे के बाहर हाल में रहना पड़ा था. हालांकि बाद में दोनों के बीच सब कुछ ठीक हो गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *