AIMIM विधायक के समर्थन में तेजस्वी का बड़ा बयान, ‘किसी को भारत से भी..’

November 23, 2020 by No Comments

बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई में सरकार बनने के बाद आज नवनिर्वाचित विधायकों को सदन में सदस्यता की शपथ दिलाई जा रही है। इस दौरान अचानक ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के विधायक अख्तरुल इमान ने सदन में थोड़ी देर के लिए अजीबोगरीब स्थिति पैदा कर दी।

दरअसल सदस्यता ग्रहण के क्रम में अख्तरुल ईमान का नाम जैसे ही सदस्यता की शपथ के लिए पुकारा गया। वैसे ही उन्होंने खड़े होकर हिं’दुस्तान शब्द पर आपत्ति जता दी। एआईएमआईएम विधायक अख्तरुल ईमान ने उर्दू में शपथ लेने की इच्छा जाहिर की। लेकिन चूंकि उ’र्दू में भारत की जगह हिं’दुस्तान शब्द के इस्तेमाल पर उन्होंने आपत्ति जताते हुए प्रोटेम स्पीकर से भारत शब्द का इस्तेमाल करने की गुजारिश की।

इस वजह से सदन में जमकर हं’गामा हुआ सबसे चर्चा का विषय यह रहा कि ए आई एम आई एम विधायकों के इस प्रस्ताव का विरोध जदयू की तरफ से खूब किया गया। इस मामले में जदयू नेता मदन सहनी ने वि’रो’ध करते हुए कहा कि एआईएमआईएम विधायक को हिन्‍’दुस्तान बोलना चाहिए था, हि’दुस्तान बोलने में कोई हर्ज नहीं है।

वह भारत बोलने पर अ’ड़े हुए थे जबकि उनके भाषण में भारत की जगह हिं’दुस्तान लिखा गया था। भाजपा विधायक नीरज कुमार बबलू ने इस मामले में कहा कि जिन्हें हिं’दुस्तान बोलने पर दिक्कत है। वह पाकिस्तान चले जाएं ऐसे लोगों को भारत में रहने का कोई हक नहीं है। ऐसे लोगों को सदन छोड़कर पाकिस्तान चले जाना चाहिए। ऐसे लोग देश को तो’ड़ने वाले हैं।

जबकि शपथ दिला रहे प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी है’रान हो गए। इस बाबत जीतन राम मांझी ने आपत्ति जताते हुए कहा कि यह कोई पहली बार नहीं हो रहा है। ये परंपरा रही है। हिं’दुस्तान शब्द का इस्तेमाल बहुत पहले से ही होता आ रहा है, लेकिन इसका AIMIM के विधायक महोदय पर कोई असर नहीं पड़ा और वह अपने बात पर अडे रहे। इस मामले में तेजस्वी यादव ने कहा कि किसी को भारत से भी परहेज़ नहीं होना चाहिए। ज्यादा जवाब अख्तरुल ईमान से ही लेना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *