नीतीश कुमार को समर्थन देने पर AIMIM नेताओं ने रखी ये शर्त, कहा पहले जदयू को…

February 2, 2021 by No Comments

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के सभी 5 विधायकों ने पटना में उनके आवास पर मुलाकात कर राज्य में सियासी हलचल मचा दी है। माना जा रहा है कि ओवैसी की पार्टी के यह पांच विधायक जल्द ही जनता दल यूनाइटेड में शामिल हो सकते हैं।

अब इस मामले में एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष सह विधायक अख्तरुल इमान ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती है। जब नीतीश कुमार भारतीय जनता पार्टी से अलग होंगे तभी हम समर्थन की बात पर विचार कर सकते हैं।

 

इसके साथ ही पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और सभी चार अन्य विधायकों ने सोमवार को एक स्थानीय होटल में मीडिया से बातचीत भी की है। इस दौरान एआईएमआईएम के विधायकों ने सीमांचल की समस्याओं का हल निकालने की मांग करते हुए कहा है कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह जन आंदोलन छेड़ देंगे। विधायक अख्तरुल इमान ने यह भी कहा है कि राज्य में सबसे पिछड़ा हुआ शेत्र सीमांचल का ही है सीमांचल पूरे राज्य का दसवां हिस्सा है। इसलिए बजट का दसवां भाग भी सीमांचल के विकास पर खर्च किया जाना जरूरी है।

उन्होंने कहा कि सीमाचल के लिए सरकार विशेष पैकेज की घोषणा करे। एआइएमआइएम के विधायकों ने कहा कि अगर सरकार संतुलित विकास चाहती है तो सीमांचल डेवलपमेंट कौंसिल का गठन का प्रस्ताव केंद्र को भेजे। एआईएमआइएम के प्रदेश अध्यक्ष ने सरकार से सीमांचल में बाढ़ के स्थाई निदान के लिए ठोस पहल करे।

सीमांचल सत्ता के सौतेलेपन का शिकार रहा है, लेकिन एआइएमआइएम अब इस उपेक्षा को बर्दाश्त नहीं करेगा। अगर अब भी सरकार नहीं चेती तो एआईएमआइएम प्रखंड से लेकर राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर आंदोलन करेगा। प्रेस कांफ्रेंस में प्रदेश अध्यक्ष अख्तरूल इमान के साथ बायसी के विधायक मो रूकनुद्दीन, कोचाधामन के विधायक इजहार अस्फी एवं बहादुरगंज के विधायक अंजार नैनी मौजूद थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *