टी20 विश्व कप (T20 World Cup 2022) में रविवार को इंग्लैंड ने पाकिस्तान को क़रीबी मुक़ाबले में हरा दिया. एक समय जबकि ये लग रहा था कि पाकिस्तान ने जो छोटा लक्ष्य दिया है वो भी इंग्लैंड के लिए बनाना मुश्किल हो रहा है. पाकिस्तान ने पहले खेलकर 138 का लक्ष्य दिया था लेकिन पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ों की शानदार गेंदबाज़ी ने इंग्लैंड के लिए मुश्किल खड़ी कर दी थी. इंग्लैंड ने ये मैच 19 ओवर में ५ विकेट से जीता. आख़िर ऐसा क्या हुआ कि एक समय बराबरी का लग रहा मैच पाकिस्तान एक ओवर पहले ही हार गई.

फाइनल मुकाबले में एक समय पाकिस्तान ने अच्छे ओवर निकालकर मुकाबले पर अपनी पकड़ बना ली थी और पाकिस्तानी समर्थकों को भरोसा हो चला था कि साल 2009 के बाद पाकिस्तान दूसरी बार टी20 विश्व चैंपियन जरूर बनेगा, लेकिन जब उम्मीदें और परवान चढ़ने लगी थीं कि तभी कुछ ऐसा घटित हुआ, जो पाकिस्तानियों को तोड़ गया.

इसकी शुरुआत पारी का 16वां ओवर लेकर आए पाकिस्तान के सबसे भरोसेमंद पेसर शाहीन आफरीदी के ओवर के साथ हुई. यहां से कुछ ऐसा हुआ कि पाकिस्तानी प्रशंसकों के होश उड़ गए. दरअस 16वें ओवर की एक गेंद फेंकने के बाद ही आफरीदी के घुटने की चोट उभर आयी. शाहीन ने पहली गेंद भी आधे-अधूरे प्रयास से फेंकी और इसके बाद शाहीन ने मैदान से वापस लौटने का निर्णय लिया, तो चिंता के बादलों ने पाकिस्तानी प्रशंसकों को घेर लिया. और जिसका डर था, वही हुआ.

ओवर की बाकी बची पांच गेंद फिंकवाने के लिए कप्तान बाबर आजम ने ऑफ स्पिनर इफ्तिखार अहमद को बुलाया. और इस मौके को स्टोक्स ने बेकार नहीं जाने दिया. स्टोक्स ने इन पांच गेंदों के भीतर एक छक्का और चौका जड़ते हुए ओवर से 13 रन बटोरे और यही पाकिस्तान की और और इंग्लैंड की जीत का सबसे बड़ा टर्निंग प्वाइंट बन गया. चोट के कारण शाहीन आफरीदी अपने हिस्से की ग्यारह गेंद नहीं फेंक सके. उन्होंने 2.1 ओवर की गेंदबाजी की. अगर शाहीन ये 11 गेंदें फेंकते, तो निश्चित तौर पर इसका बहुत ही बड़ा असर पड़ता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *