1 रूपये से व्यापार शुरू करके आज ये लड़का बन गया करोडपति…बताया अमीर बनने का तरीका

March 21, 2021 by No Comments

देश में बेरोज़गारी बढ़ती जा रही है,लाखों यूवा नोकरी के लिए परेशान हैं और दर दर की ठोकरें खा रहे हैं,यूवाओं के पास डिग्री है,प्रतियोगिता भी है लेकिन देश में नोकरी नहीं है, इस वजह से यूवा परेशान है,लेकिन इन यूवाओं को परेशान नहीं होना चाहिए.

आज हम ऐसे ही एक यूवा के बारे में बताने जा रहे हैं,जिन्होंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और कुछ सालों तक नोकरी के चक्कर में भी रहे हैं
लेकिन जब नोकरी नहीं लगी तो अपना काम शुरू कर दिया और आज कामियाब जिंदगी गुज़ार रहे हैं.

हम यहाँ पर बात कर रहे हैं बने राजस्थान के टोंक जिले रहने वाले अंशुल गोयल की.
अंशुल गोयल ने जब पढ़ाई पूरी कर ली तो इन्होने नोकरी की तलाश शुरू की.
लेकिन जब सफलता हाथ नहीं लगी तो अपनी तिजारत से शुरू कर दी.

और अब यह महीने में एक लाख से डेढ़ लाख रूपये तक कमा लेते हैं.अंशुल गोयल का कहना है कि जब नोकरी नहीं लगी
तो मेरा दिमाग तिजारत करने पर गया.
लेकिन मैंने बिजनस के बारे में कुछ जानता नहीं था,तमाम तरह की बातें में मेरे दिमाग में आ रही थीं कि मैं क्या करू जिस में नफा हो और कैसे करूंगा.

फिर मैंने अपने रिश्तेदारों में उन लोगों से संपर्क किया जो लोग बिजनस करते थे और उन से कई तरह की जानकारी ली.
अंशुल गोयल का कहना है कि अब बारी थी बिजनस शुरू करने की और मुझे बहुत कम रूपये लगा कर बिजनस शुरू करना था.

बहुत सोचने के बाद मेरे दिमाग में हरा मटर का बिजनस आया,क्योंकि इस बिजनस में बहुत कम पैसे लगेत हैं
हरे मटर को फ्राई करके एक रूपये में बेचा जा रहा है, और बच्चे इसे बहुत खाते हैं.

तो यही काम मुझे सूझा और मैंने मन बना लिया कि अब यही काम करूंगा. अंशुल गोयल ने बताया कि मैंने २०१७ में राजस्थान के जयपुर में यह काम करना शुरू किया,सब से पहले मैंने पैकेट करने के लिए सामन खरीदा.

उस में मुझे ६० हज़ार रूपये का खर्च आया,इसके बाद ५० हज़ार रूपये का पैकिंग करने वाली मशीन खरीदी.और मैंने दो कुंटल सूखी मटर खरीदी.
और मैंने यह काम मन बना कर करना शुरू कर दिया.

अंशुल गोयल ने बताया कि शुरू में मुझ बहुत परेशानी हुई क्योंकि मुझे इस काम का अनुभव नहीं था.
इस लिए मुझे कई महीने तक संघर्ष करना पड़ा. कभी ठीक से फ्राई नहीं होती, तो मसाला कम या ज्यादा हो जाता,जिस से लोगों की बातें सुन्नी पड़ती.

लेकिन मैएँ हार नहीं माना और अपने काम में लगे रहे. मैं जब सेम्पल के कुछ पैकेट लेकर मार्किट में गया तो वहां पर मुझे और भी बातें सीखने को मिलीं.
अनुशल गोयल का कहना है कि शुरू के कुछ महीने में मुझे परेशानी हुई.लेकिन आगे चल कर मुझे इस काम में अनुभव हो गया
मुझे सारी बातें समझ में आ गई, कि कितना मसाला मिलाना है.

और कितनी देर फ्राई करनी पैकेट कैसे बनाना है और किस मार्केट में इसे बेचना है. उनका कहना है कि अब मेरा बिजनस रंग ला चुका है.
उनका कहाँ है कि मुझे ७० से ८० हज़ार रूपये तक मुनाफे में मिलने लगे.

उन्होंने बताया कि जब यह काम चल गया तो मेरे साथ बहुत सारे लोग जुड़ गए और मुझे कई लोग मशोरा देने लगे कि मैं दुसरे काम भी शुरू करू,
इसी तरह के दुसरे सामान भी बनाना शुरू करून.

यह बात मुझे भी समझ में आ गई और मैंने बैंक से ५० लाख रूपये लों ले लिया. और एक फर्म बना कर अब तक ११ प्रोडक्ट मार्केट में उतार चुका हूँ,
और इसी मुनाफे से से अपना लोन भी चुका दिया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *